गुरुवार, 8 सितंबर 2011

बड़े प्यार से दिया है उसने हमें ये जीवन, किसी के तोहफे को भला कोई यूं लुटाता है.

बड़े प्यार से दिया है
उसने हमें ये जीवन
किसी के तोहफे को भला
कोई यूं लुटाता है.

धज्जी उड़ा रहे भेंट की
देनेवाले के सामने ही.
हमारे प्यार में बंधा वो
हर कदम पे हमे बचाता है.

बख्शी थी एक जिंदगी
पास उसके आने को.
पर इंसान सबसे पहले
उसी को जिंदगी से हटाता है.

फिर भी हरपल साथ रह
पीठ थपथपाकर कहता
कि जरा पलट के देखो
तेरा पिता तुझे बुलाता है.

हमारी उपेक्षाओं के बावजूद
वो करता है इन्तजार.
तभी तो जब छोड़ देते सब साथ
साथ सिर्फ वही रह जाता है.

3 comments:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

हमारा जीवन ईश्वर की धरोहर है हमारे पास।

Kshitij ने कहा…

Nice !

He "The God" always waits for us!

Very Nice !

वन्दना ने कहा…

बहुत सुन्दर भाव्।